Ad Code

तुम्हे आना होगा



इससे पहले की ज़िंदगी की शाम हो जाये

तुम्हे आना होगा।

इससे पहले के हर फूल खिल कर मुरझा जाये

तुम्हे आना होगा।

तुम्हे आना होगा उन अधूरे वादों के लिए

जो तुमने किये लेकिन निभाये नही।

तुम्हें आना होगा उन अधूरे सपनो के लिए

जो तुमने दिखाए लेकिन पूरे किए नही।

तुम्हे आना होगा।

तुम्हे आना होगा पतझड़ के मौसम में बहार बन के

तुम्हे आना होगा खिलती धूप में बरसात बन के

तुम्हे आना होगा।

इससे पहले के दिल का लहू जम के सख्त हो जाये

तुम्हे आना होगा।

इससे पहले के हर साँस टूट के बिखर जाए

तुम्हे आना होगा।

तुम्हे आना होगा एक नई सुबह की तरह

तुम्हे आना होगा मेरे ख़्वाब की ताबीर की तरह

तुम्हे आना होगा।

चाहे तुम कितने ही दूर चले जाओ

चाहे तुम कितने ही मजबूर हो जाओ

तुम्हे आना होगा।

या तू मेरी ज़िंदगी बन के आ

या तू मेरी मौत बन के आ, लेकिन

तुम्हें आना होगा।

तुम्हे एक पल को भी मजबूर नही करुँगा

तुम्हे एक पल के लिए भी ग़म न दूँगा

लेकिन यह तय है।

तुम्हे आना होगा।

चाहे तुम दुनिया की हर खुशी देख लो

चाहे तुम दुनिया की हर तकलीफ़ देख लो

फिर भी तुम्हे आना होगा।

तुम्हे आना होगा हर एक आँसू के लिए

जो मेरी आँखों से गिरे।

तुम्हे आना होगा हर उस दुआ के लिए

जो मेरे दिल से निकले।

तुम्हे आना होगा।

तुम आओगे मेरी ज़िंदगी की सुबह बन के

या तुम आओगे मेरी ज़िंदगी की शाम बन के

लेकिन तुम्हे आना होगा।

तुम्हे आना होगा।

Reactions

Post a Comment

0 Comments